Breaking News

मध्यप्रदेश की 7 लोकसभा सीटों पर टूटा रिकार्ड, 65 प्रतिशत से ज्यादा मतदान

खास खबर            May 06, 2019


मल्हार मीडिया मध्यप्रदेश टीम।
लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में आज 6 मई सोमवार को मध्यप्रदेश की 7 सीटों पर मतदान हुआ। दिलचस्प बात यह है कि मतदाताओं ने इन्हीं सात सीटों पर हुए पिछले दो लोकसभा चुनाव के मतदान का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

इस बार इन सीटों पर मतदान प्रतिशत 65 फीसदी को पार कर गया। 2014 के लोकसभा चुनाव में मतदान प्रतिशत 57.86 तो 2009 में 48.33 था। इस बार सबसे अधिक मतदान 74.92 प्रतिशत आदिवासी बहुल बैतूल लोकसभा सीट पर हुआ।

सबसे कम 56.70 प्रतिशत मतदाता रीवा संसदीय क्षेत्रों में मतदान केंद्रों तक पहुंचे। बैतूल लोकसभा क्षेत्र के हरसूद में पूर्व मंत्री विजय शाह और कांग्रेस नेताओं के बीच विवाद हो गया। इसे लेकर दोनों पक्षों की ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई है।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा है। मॉकपोल और मतदान के दौरान 390 मतदान केंद्रों में 699 ईवीएम और वीवीपैट खराब हो गईं। खराब मशीनों को बदलकर मतदान कराया गया। कहीं से भी हिंसक घटना या बूथ कैप्चरिंग की सूचना नहीं है।

टीकमगढ़, होशंगाबाद, दमोह और छतरपुर में कुछ जगह मतदान के बहिष्कार की खबर मिली थी। वहां प्रशासन को मतदाताओं से बात करने भेजा गया। इसके बाद मतदान शुरू हो गया। हालांकि, यहां मतदान बेहद कम रहा। कुछ जगह पर भीड़ लगने की शिकायत मिली थी। पुलिस प्रशासन ने केंद्रों के पास से भीड़ को हटाया।

हरसूद में पूर्व मंत्री विजय शाह का बूथ पर विवाद हुआ। इसके बाद दोनों पक्षों ने एफआईआर करा दी। इसी तरह पूर्व मंत्री जालम सिंह पटेल को अनधिकृत तौर पर दमोह संसदीय क्षेत्र के जबेरा क्षेत्र में होने पर गिरफ्तार कर बाद में कारण बताए जाने पर छोड़ दिया। जालम सिंह ने बताया था कि वे पूर्व सांसद चंद्रभान लोधी की मां के निधन पर उनके यहां गए थे।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि 12 बजे तक मतदान 35 प्रतिशत से ज्यादा पहुंच गया था, लेकिन इसके बाद गति धीमी हुई। चार बजे के बाद इसमें फिर तेजी आई। शाम छह बजे भी ज्यादातर मतदान केंद्रों में लाइन लगी रही।


कांताराव ने बताया कि बैतूल में चुनाव ड्यूटी पर तैनात नगर सैनिक महेश दुबे (56) पुत्र कंधीलाल का हार्ट अटैक से निधन हो गया। वे मूल रूप से जबलपुर निवासी थे। इसी तरह कोटवार नंदूलाल नागले का भी निधन हुआ। दुबे के परिजन को 15 लाख रुपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है। नागले के परिजन को भी नियमानुसार सहायता दी जाएगी।


उधर, सीधी लोकसभा के डेम्हा मतदान केंद्र में पुनर्मतदान कराया गया। इसमें 797 मतदाताओं में से 683 ने मतदान किया। वहीं, पुनर्मतदान में महिला ने पीठासीन अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। सीधी कलेक्टर ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

 


Tags:

खराब-मशीनों-को-बदलकर-मतदान-कराया-गया पूर्व-मंत्री-विजय-शाह मध्यप्रदेश

इस खबर को शेयर करें


Comments