Breaking News

बेहतर फोरेंसिक जांच के लिए प्रतिष्ठित विश्‍वविद्यालयों से हुआ समझौता

समाचार            May 06, 2019


मल्हार मीडिया भोपाल।

मध्यप्रदेश की न्‍यायालयिक विज्ञान प्रयोगशाला सागर एवं पुलिस मुख्‍यालय की क्‍यू डी व फोटो शाखा तथा इस्‍टीट्यूट ऑफ फोरेंसिक साइंस एंड क्रिमनोलॉजी बुंदेलखंड यूनीवर्सिटी झांसी व डॉ.हरिसिंह गौर केन्‍द्रीय विश्‍वविद्यालय सागर के मध्‍य अहम समझौता हुआ है।

यह समझौता फोरेंसिक वैज्ञानिक शोध कार्यो की क्षमता में पारस्‍परिक उन्‍नयन, फोरेंसिक विज्ञान के क्षेत्र में हो रहे नवीनतम विकास व तकनीक से अवगत होकर मानव संसाधन की दक्षता में वृद्धि और वैज्ञानिक अधिकारियों व विद्यार्थियों में व्‍यवसायिक दृष्टिकोण से तकनीकी ज्ञान का परस्‍पर आदान-प्रदान करने के मकसद से किया गया है।

पुलिस महानिेदेशक श्री विजय कुमार सिंह के अनुमोदन से इन दोनों प्रतिष्ठित विश्‍वविद्यालयों के साथ यह करारनामा हुआ है।

बुंदेलखंड विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर जे.वी.वेशम्‍पायन व डॉ.हरिसिंह गौर केन्‍द्रीय विश्‍वविद्यालय सागर के कुलपति प्रोफेसर आर.पी.तिवारी ने इस समझौते में अहम भूमिका निभाई है।

अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक तकनीकी सेवाएं श्री डी.सी.सागर ने बताया कि इस समझौते से प्रदेश में और बेहतर ढंग से फोरेंसिक जांच का काम किया जा सकेगा। साथ ही वैज्ञानिक शोध कार्य भी नवीनतम तकनीक के साथ हो सकेंगे।

 


Tags:

bundelkhand-univercity dr-harishing-gour-univercity compromise

इस खबर को शेयर करें


Comments