Breaking News

राहुल का कन्फ्यूजन में दिया गया बयान पहुंचा अदालत, शिवपुत्र ने ठोका मानहानि का मुकदमा

राजनीति            Oct 30, 2018


मल्हार मीडिया भोपाल।
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा "कन्फ्यूजन" में दिया गया बयान अदालत पहुंच गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के युवा उद्यमी पुत्र कार्तिकेय ने उनके खिलाफ भोपाल की अदालत में मानहानि का मुकदमा दायर किया है । हालांकि मुकदमे की धमकी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की ओर से दी गयी थी। लेकिन बाद में उनके पुत्र कार्तिकेय अदालत गए।

उल्लेखनीय है कि राहुल गांधी इस समय मध्यप्रदेश के दौरे पर हैं।कल शाम झाबुआ की एक सभा में उन्होंने पनामा पेपर्स का जिक्र करते हुये कहा था कि यहां के मुख्यमंत्री के बेटे का नाम पनामा पेपर्स में आता है।लेकिन कुछ नही होता है।जबकि इसी बात पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को जेल में डाल दिया जाता है।

राहुल के इस बयान पर शिवराज ने रात में ही ट्वीट करके विरोध जताया था।उन्होंने तत्काल माफी मांगने और ऐसा न करने पर मुकदमा करने की चेतावनी दी थी।उनके पुत्र ने भी ट्वीट करके विरोध जताया था साथ ही अदालत जाने की भी धमकी दी थी।

उधर आज सुबह राहुल गांधी ने इंदौर में यह माना कि वे थोड़ा कन्फ्यूज हो गए थे।उन्होंने कहा था कि वे लगातार मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के दौरे कर रहे हैं।दोनों राज्यों में भारी भ्रष्टाचार हुआ है, इसलिये मैं कन्फ़्यूज़ हो गया था। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मैंने किसी का नाम नही लिया था। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के सांसद पुत्र का नाम कथित तौर पनामा पेपर्स में आया था।

राहुल के इस बयान के बाद कार्तिकेय अपने वकीलों के साथ अदालत पहुंचे।उन्होंने न्यायाधीश सुरेश सिंह की अदालत में अपनी अर्जी दाखिल की। अदालत ने अगली तारीख 3 नबंवर की तय की है,उसी दिन कार्तिकेय के बयान दर्ज किए जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि शिवराज सिंह प्रदेश के पहले ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो अपने परिवार पर आरोपों के चलते अदालत में मुकदमा लड़ रहे हैं। पहले कांग्रेस नेता के के मिश्रा ने शिवराज तथा उनकी पत्नी साधना सिंह पर व्यापम घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाया था।

यह मामला अभी भी अदालत में है।अब उनके बेटे ने अदालत की शरण ली है।जहां तक कार्तिकेय का सवाल है 24 साल की उम्र में वह एक सफल व्यवसायी बन गए हैं। उनकी भोपाल में फूलों की दुकान है।साथ ही वे गाय का दूध भी बेचते हैं। रेकार्ड के मुताबिक उनके दोनों ही व्यवसाय खूब फलफूल रहे हैं। एक मोटे अनुमान के मुताविक कार्तिकेय का फूलों का व्यापार करोड़ों का है। जबकि डेयरी उन्होंने बैंक से 5 करोड़ रुपये का कर्ज लेकर शुरू की है।

शिवराज सिंह अपने परिवार पर लगने वाले आरोपों को लेकर अक्सर व्यथित रहते हैं। जब डम्पर कांड में उनकी पत्नी पर आरोप लगे थे तब उन्होंने कहा था कि क्या मुख्यमंत्री की पत्नी अपना कारोबार नही कर सकती। अब यही बात पुत्र को लेकर कही जा रही है। अभी तक वे आरोपों को ढाल की तरह इस्तेमाल करते आये हैं।

 


Tags:

राहुल-का-कन्फ्यूजन कार्तिकेय-पहुचे-अदालत

इस खबर को शेयर करें


Comments