कांग्रेस वाले हुये मुख्यमंत्री के साले,बोले एमपी को शिवराज की नहीं कमलनाथ की जरूरत

राजनीति            Nov 03, 2018


मल्हार मीडिया ब्यूरो नई दिल्ली।
मध्य प्रदेश में चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी को झटका लगा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह ने बीजेपी को छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया है।

संजय सिंह कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। कहा जा रहा है कि वो टिकट ना मिलने से नाराज थे इसलिए उन्होंने पार्टी छोड़ दी।

कांग्रेस में शामिल होते ही संजय ने कमलनाथ की जमकर की तारीफ की और शिवराज पर निशाना साधा, कमलनाथ की तरीफ में उन्होंने कहा, अब एमपी को शिवराज की नहीं कमलनाथ की जरूरत है। वहीं शिवराज ने लिए कहा कि अपने बच्चों के मामा को भी विश्वास नहीं दिला पाए शिवराज मामा।

बता दें कि शुक्रवार को ही बीजेपी ने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए 177 उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मौजूदगी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की अध्यक्षता में हुई पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में इन नामों को स्वीकृति दी गई। मध्य प्रदेश के लिए 177 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की गई है।

पहली सूची में मंत्री माया सिंह समेत तीन मंत्रियों के टिकट काट दिए गए हैं।

सिंह की विधानसभा सीट ग्वालियर पूर्व से पार्टी ने सतीश सिकरवार को प्रत्याशी बनाया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपनी पुरानी सीट बुधनी से ही चुनाव लड़ेंगे जबकि यशोधरा राजे सिंधिया को शिवपुरी से उम्मीदवार बनाया गया है। सांसद मनोहर ऊंटवाल आगर से चुनाव लड़ेंगे वहीं सांसद नागेंद्र सिंह नागोद से चुनाव लड़ेंगे।

कांग्रेस में शामिल होे के बाद संजय सिंह ने कहा कि कमलनाथ के नेतृत्व और छिंदवाडा के विकास से प्रभावित होकर लिया निर्णय।

 



इस खबर को शेयर करें


Comments