Breaking News

राज्य भू-वैज्ञानिक कार्यक्रम मण्डल की 51वीं बैठक सम्पन्न

प्रदेश लार्इव            Nov 16, 2017


मल्हार मीडिया भोपाल।
मध्यप्रदेश में पाये जाने वाले विभिन्न खनिजों के सर्वेक्षण एवं पूर्वेक्षण कार्य के लिए सचिव खनिज साधन मनोहर दुबे की अध्यक्षता में राज्य भू-वैज्ञानिक कार्यक्रम मंडल की 51वीं बैठक हुई। सचिव श्री दुबे ने संस्थानों के प्रतिनिधियों से अपेक्षा की कि वे वर्तमान परिवेष तथा खनिज क्षेत्र में आ रही आवश्यकता अनुरूप खनिज भंडारों का आकलन कर प्रमाणीकरण करें, जिससे भारत सरकार की मंशानुरूप खनिज क्षे़त्रों को नीलाम किया जा सके।

बैठक में वर्ष 2016-17 में किये गये खनिज अन्वेषण के कार्य एवं वर्ष 2017-18 में विभाग द्वारा किये जाने वाले भौमिकी कार्यों पर विचार किया गया।

संचालक, भौमिकी तथा खनिकर्म विनीत कुमार अस्टिन ने बताया की वित्तीय वर्ष 2017-18 में विभाग द्वारा सतना,रीवा,धार,झाबुआ-अलीराजपुर एवं श्योपुर-मुरैना जिले में चूना पत्थर तथा डिण्डोरी में बाक्साइट खनिज का पूर्वेक्षण कार्य किया जायेगा।

वित्तीय वर्ष 2016-17 में सतना, धार तथा रीवा जिले में चूना-पत्थर के लिए एवं डिण्डोरी जिले में बाक्साइट खनिज के लिए पूर्वेक्षण कार्य किया गया है। जिला छतरपुर में हीरा तथा दमोह और सतना में चूना-पत्थर के 2-2 ब्लाक तथा रीवा और बालाघाट में बाक्साइट, जबलपुर में आयरन ओर का तथा बैतूल में ग्रेफाइट के एक-एक ब्लॉक नीलामी के लिए तैयार किये गए हैं। इसकी कुल रिसोर्स वैल्यू (संसाधन मूल्य) 65 हजार करोड़ रूपये से अधिक है।

बैठक में उप सचिव खनिज साधन राकेश श्रीवास्तव, भारत सरकार की विभिन्न संस्थाओं, भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण विभाग, भारतीय खान ब्यूरो, खनिज अन्वेषण निगम, सी.एम.पी.डी.आई. बिलासपुर, राष्ट्रीय खनिज निगम हैदराबाद, राज्य खनिज निगम भोपाल, मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद एवं भौमिकी तथा खनिकर्म के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

 



इस खबर को शेयर करें


Comments