Breaking News

वर्ष 2023 तक प्रदेश के हर गरीब को पक्का मकान बनाकर देगें - मुख्यमंत्री

प्रदेश लार्इव            May 17, 2018


मल्हार मीडिया ब्यूरो।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में कोई गरीब आवासहीन नहीं रहेगा। मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना में हर गरीब, हर मजदूर को जमीन का पट्टा दिया जायेगा। वर्ष 2023 तक मध्यप्रदेश में रहने वाले हर गरीब व्यक्ति को सरकार पक्का मकान बनाकर देगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर वर्ग को विकास का लाभ मिले, सरकार ने न केवल इसकी शिद्दत से चिंता की है, बल्कि सबके हितों का ध्यान रखकर अनेक योजनाओं के जरिये सभी को सीधा लाभ भी पहुँचाया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार गरीबी दूर करने के संकल्प को जल्द से जल्द पूरा करने की ओर अग्रसर है। एक अप्रैल से 31 मई तक पंजीयन करवाने वाले असंगठित मजदूरों को 13 जून से लाभ वितरण प्रारंभ कर दिया जाएगा। प्रदेश के हर विकासखण्ड में जन-प्रतिनिधियों की मौजूदगी में हितलाभ वितरण कार्यक्रम किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान छतरपुर जिले के खजुराहो के समीप बमीठा गाँव में छतरपुर और पन्ना जिले के असंगठित मजदूरों एवं तेंदूपत्ता संग्राहकों के सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने असंगठित मजदूर कल्याण योजना के तहत श्रमिकों को पंजीयन कार्ड, आवास हेतु पट्टों का वितरण तथा तेंदूपत्ता संग्राहकों को बोनस राशि, चरण पादुका योजना में महिलाओं को चप्पलें, पुरूषों को जूते, पानी की बोतल और सरकार की विभिन्न योजनाओं के अन्य हितग्राहियों को भी लाभ वितरित किये। मुख्यमंत्री ने छतरपुर और पन्ना जिले के करीब 306 करोड़ से अधिक की लागत वाले कई विकास कार्यों का भूमि-पूजन एवं लोकार्पण भी किया। मुख्यमंत्री ने तेंदूपत्ता संग्राहकों को 4 करोड़ 79 लाख रूपये की बोनस राशि ऑनलाईन हितग्राहियों के बैंक खातों में हस्तांतरित की।

मुख्यमंत्री जन-कल्याण योजना

मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना की जानकारी देते हुए श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश का हर वह व्यक्ति जो आयकर दाता नहीं है, ढाई एकड़ से कम भूमि का मालिक है और शासकीय सेवा में नहीं हैं, वह सभी इस योजना के दायरे में आएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर मजदूर बंधु को आवासीय भूमि और पक्का मकान बनाकर दिया जायेगा। किसी भी गरीब को सरकार आवासहीन नहीं रहने देगी। उन्होंने कहा कि मजदूर महिलाओं को प्रसूति से पहले और बाद कैलोरीयुक्त आहार हेतु आर्थिक सहायता का लाभ दिया जायेगा। गरीब बच्चों की कक्षा एक से कॉलेज तक की पढ़ाई और उच्च शिक्षा संस्थान में भर्ती होने पर फीस भी सरकार भरेगी। मजदूरों के बच्चों को मेधावी छात्र प्रोत्साहन योजना का लाभ भी मिलेगा। प्रदेश के किसी भी बच्चे को शिक्षा के मौलिक अधिकार से वंचित नहीं रहने दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के हर नागरिक को विकास का सीधा लाभ पहुँचाने की स्थायी व्यवस्था की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब और मजदूर का सरकार निःशुल्क इलाज कराएगी। आयुष्मान भारत योजना, राज्य बीमारी सहायता कोष, मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान मद से गरीब को इलाज के लिये सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि गरीबों को 200 रूपये माह की दर से फ्लैट रेट पर बिजली दी जाएगी। स्व-सहायता समूहों को दीगर काम-धंधों से जोड़ा जाएगा। उन्हें सरकार बैंक लिंकेज देगी, साथ ही इनके कौशल विकास का काम भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने गरीबों के हित में सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य सरकार सामाजिक सरोकारों से जुड़ी सरकार है। जो दुनिया में कहीं नहीं हुआ, वह अब मध्यप्रदेश में हो रहा है।

संग्राहाकों को चरण पादुका, पानी की बोतल, साड़ियाँ वितरित

इस अवसर पर छतरपुर जिले के 41 हजार 483 तेंदूपत्ता संग्राहकों को पानी की बोतल, 20 हजार 353 चरण पादुकाएं एवं साड़ियों का वितरण किया गया। पन्ना जिले के 2 लाख 65 हजार 296 श्रमिकों को पंजीयन कार्ड और 24 हजार 820 तेंदूपत्ता संग्राहकों को 4 करोड़ 79 लाख रूपये बोनस राशि एवं 52 हजार 986 संग्राहकों को पानी की बोतल, 25 हजार 91 संग्राहकों को चरण पादुकाएं एवं साड़ियों का वितरण किया गया। इसके आलवा, मुख्यमंत्री आश्रय योजना में 34 हजार 401 भूखण्ड धारकों को भू-अधिकार प्रमाण पत्र भी वितरित किए गए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रतीकात्मक रूप से हितग्राहियों को हितलाभ प्रदान किए। श्री चौहान ने हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षा परिणामों में स्टेट मेरिट में आने वाले छतरपुर एवं पन्ना जिले के विद्यार्थियों को प्रशस्ति पत्र दिये।

इस अवसर पर छतरपुर जिले की प्रभारी मंत्री सुश्री कुसुम महदेले, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती ललिता यादव, बुंदेलखण्ड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया, म.प्र. राज्य लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेश कोरी, विधायक सर्वश्री मानवेन्द्र सिंह, आर.डी. प्रजापति, पुष्पेन्द्रनाथ पाठक, महेन्द्रसिंह बागरी, श्रीमती रेखा यादव, बुंदेलखण्ड विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री महेन्द्र यादव एवं विजय बहादुर सिंह बुंदेला, खजुराहो पर्यटन विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष डॉ. घासीराम पटेल, लघु वनोपज संघ की जिला अध्यक्ष श्रीमती वंदना सिंह और जनपद अध्यक्ष सुश्री हीराबाई सिंह मौजूद थे।

 



इस खबर को शेयर करें


Comments