Breaking News

कबूतरों-से-खत-को-बचाकर-रखो

प्रकाश भटनागर।चहकती चिढ़िया पर इस्तीफे की चिट्ठी पढ़ कर गुजरे दौर के कबूतर याद आ गए। गजब करामाती थे। उड़ते-बैठते चिट्ठियां इधर से उधर कर गुजरते। एक कोने पर माशूक तो दूसरे पर माशूका। दिल...
Jul 05, 2019