Breaking News

स्वाधीन-सपनेहु-सुख-नाहीं

प्रकाश भटनागर।कई भारी-भरकम काण्ड के साथ कांग्रेस का बाल काण्ड अंतत: खत्म हो गया। रामचरित्र मानस में यह पहला काण्ड है। इसमें goswami tulsidas गोस्वामी तुलसीदास ने लिखा था, 'पराधीन सपनेहु सुख नाहीं।' यानी...
Aug 12, 2019