हरियाणा के हर हिस्से हो रहे में रेप और अपहरण

वामा            Jan 19, 2018


कुरूक्षेत्र से गौरव सांगवाल।
हरियाणा आज कल रेप की आग में जल रहा है। हरियाणा का हर हिस्सा रेप और अपहरण का शिकार बनता जा रहा है। जिसमें हरियाणा की बच्चियों से लेकर लड़कियों तक की इज़्जत तार-तार हो रही है।

कुरूक्षेत्र की लड़की का जींद में गैंग रेप से लेकर, पानीपत, पिंजौर, फरीदाबाद, के बाद 3 साल की बच्ची का हिसार में, चरखी दादरी, और आज फतेहाबाद और गुड़गांव में इज़्जत कुचली जा रही है।

हाल ही में हरियाणा सरकार ने आँकड़े पेश किए जिसमें लड़कियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। यानि हालात सुधरे है।

क्या वाकई हालात सुधरे हैं?
अब तक 1187 रेप केस दर्ज हो चुके है यानि 3 रेप प्रतिदिन. तो वही राज्य स्तर की बात करूँ तो 9.4 की ऐवरेज है जो नेशनल की 6.1 की है। साल 2014-15 में सबसे ज्यादा रेप केस दर्ज हुए है।

ऐसा नहीं है कि पहली बार हरियाणा में ऐसा हुआ है. हुड्डा राज में भी ऐसा हुआ था जब एक महीनें में सबसे ज्यादा 13-14 रेप केस हुए थे. तब भी कोई खास इज्जत नही बढ़ी थी।

तब तो सोनिया गाँधी को खुद प्रदेश में जींद रेप केस में पीड़ित परिवार से मिलने आना पड़ा था।
2011 की जनगणना में 1000/834 के आँकड़े थे. लेकिन प्रदेश सरकार के आँकड़ो के अनुसार 2017 में जन्में 5,09,290 बच्चों में 2,66,064 लड़के तो 2,43,226 लड़कियां है यानि 1000/914 का लिंगानुपात है।

अगर सरकार इन सुधार का श्रेय झोली में डालतीलती है तो रेप केस की बदनामी, उन्हीं बेटियों की पीड़ा भी अपने सर ले।

 


Tags:

हर-हिस्से-में-रेप

इस खबर को शेयर करें


Comments