Breaking News

मल्हार मीडिया इंपैक्ट: मासूम से दुष्कृत्य प्रयास मामले में लापरवाही करने पर एएसआई,हवलदार लाइन अटैच

वामा            Jul 06, 2018


मल्हार मीडिया ब्यूरो जैसीनगर सागर।

मध्यप्रदेश के सागर जिले के जैसीनगर थाना अंतर्गत 7 वर्षीय मासूम के साथ दुष्कृत्य प्रयास मामले में रिपोर्ट दर्ज करने को लेकर बरती गई लापरवाही को लेकर एएसआई वीर सिंह राजपूत और हवलदार देवीदीन तिवारी को लाइन अटैच कर दिया गया है। मल्हार मीडिया ने इस खबर को प्राथमिकता से प्रकाशित किया था उसके बाद स्थानीय विधायक और प्रशासन सक्रिय हुए और आज महिला आयोग की अध्यक्ष भी जैसीनगर पहुंचीं

हैरानी वाली बात ये है कि दरिंदगी से बची एक 7 साल की बच्ची का महज रिपोर्ट दर्ज कराने के लिये अपने दादा के साथ घंटों भूखे—प्यासे  थाने की दहलीज पर बैठना शायद बड़ी खबर नहीं थी। इसलिए शायद उसे राजधानी के अखबारों में जगह भी नहीं मिली

गौरतलब है कि 4 जून को आदतन अपराधी चैन सिंह रमपुरा गांव में 7 साल की आदिवासी बच्ची को अगवा कर दुष्कर्म का प्रयास कर रहा था लेकिन तभी बच्ची के परिजन और अन्य लोग उसे ढूढ़ते हुये वहां पहुंच गये और आरोपी बच्ची को छोड़कर भाग निकला।

दूसरे दिन जब परिजन इस मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने जैसीनगर थाने पहुंचे तो उन्हें वहां से यह कहकर भगा दिया गया कि थाना प्रभारी नहीं है आप लोग रिपोर्ट दर्ज कराने कल आना।

बाद में मीडिया के दबाव में रिपोर्ट दर्ज की गई। कल विधायक पारूल साहू और आज महिला आयोग की अध्यक्ष लता वानखेड़े रमपुरा गांव पहुंची और बच्ची के परिजनों से मिलकर उन्हें सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिलाया।

मल्हार मीडिया ने इस खबर को प्राथमिकता से प्रकाशित किया था उसके बाद स्थानीय विधायक और प्रशासन सक्रिय हुए।

मूल खबर पढ़ने के लिये यहां क्लिक करें

स्थानीय विधायक पारुल साहू जैसीनगर पहुंचकर बच्ची और उनके परिजनों से मिली। जहां परिजनों और स्थानीय निवासियों ने लापरवाही करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुये उन्हें ज्ञापन सौंपा।

विधायक पारूल साहू ने कहा इस मामले में जो भी पुलिसकर्मी दोषी होगा मैं आईजी से बात कर कर से कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

जिस पर सागर एसपी सत्येंद्र शुक्ला ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एएसआई और एक हवलदार को लाइन अटैच कर दिया।

वहीं आज महिला आयोग की अध्यक्ष लता वानखेड़े भी बच्ची के परिजनों से मिलीं और उन्होंने मीडिया से इस तरह की घटनाओं को निंदनीय बताते हुये कहा कि दुष्कर्म के आरोपियों आरोपियों और गैंगरेप के आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हमने पुलिस को निर्देशित किया है कि पुलिस आरोपी जल्द से जल्द गिरफ्तार करे।

इस मामले में आरोपी चैन सिंह को अब तक नहीं पकड़ा जा सका है फिलहाल विशेष पुलिस बल जंगल की सर्चिंग अभियान में लगी हुई है ताकि आरोपी को जल्द पकड़ा जा सके।


Tags:

मल्हार-मीडिया-इंपैक्ट

इस खबर को शेयर करें


Comments