Breaking News

खुरई से 48 घंटे बाद बिना नंबर की गाड़ी में सागर पहुंची ईवीएम मशीन

समाचार            Nov 30, 2018


मल्हार मीडिया ब्यूरो सागर।
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में मतदान के बाद लगातार गड़बड़ियां सामने आ रही हैं। सागर के खुरई विधानसभा से बड़ी संख्या में मतदान के 48 घंटे बाद ईवीएम मशीन सागर पहुंची और वो भी बिना नंबर की गाड़ी से।

मतदान खत्म होने के 48 घंटे बाद पहुंची इन मशीनों की जानकारी मिलते ही सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर सागर के कार्यालय की घेराबंदी कर ली दी।

बिना नंबर के जिस स्कूल वाहन में यह ईवीएम मशीनें पहुंची है उसमें कोई भी जिम्मेदार अधिकारी कोई सही जवाब देने को तैयार नहीं है।

चुनाव में गड़बड़ी की मंशा से यह मशीन गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के दीपाली होटल में लाकर रखी हुई थी और यहां से उन में गड़बड़ी करते हुए उन्हें गुपचुप ढंग से स्ट्रांग रूम में जमा कराया जा रहा था। लेकिन कांग्रेसजनों की सजगता के चलते उनका यह प्रयास विफल कर दिया गया।

घटना की सूचना पूरे शहर में आग की तरह फैल गई है और कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव गोविंद सिंह राजपूत जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी व हीरासिंह राजपूत खुरई विधानसभा से प्रत्याशी अरुणोदय चौबे नरयावली विधानसभा से प्रत्याशी तथा प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के संभागीय प्रवक्ता एवं पीसीसी सदस्य डॉ संदीप सबलोक जिला कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता देवेंद्र फुसकेले, संभागीय प्रवक्ता वीरेंद्र गौर, कमलेश बघेल, अजय परमार, राज कुमार पचौरी समेत हजारों की संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय के आसपास डेरा डाल चुके हैं।

इनकी मांग है कि इन मशीनों का भौतिक सत्यापन उनके सामने कराया जाए तथा यह मशीन है मतगणना समाप्त होने तक अलग सुरक्षित रखी जाएं। इसके साथ ही काँग्रेसजनों ने मांग की है कि नियम विरुद्ध रूप से 48 घंटे तक इन मशीनों को रोक के रखने के लिए जिम्मेदार अधिकारी को तत्काल बर्खास्त करते हुए अपराधिक प्रकरण दर्ज किया जाए।

वहीं प्रशासन का कहना है कि यहां पहुंची ईवीएम मशीन रिजर्व कैटिगरी की थी जो स्टाफ की कमी के कारण सागर में बनाए गए स्ट्रांग रूम के वेयरहाउस में निर्धारित समय पर नहीं पहुंचाई जा सकी थी।

प्रशासन ने घटना की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही का आश्वासन दिया है तथा मशीनों को कांग्रेस के प्रतिनिधियों के सामने जांच एवं परीक्षण के बाद कलेक्टर कार्यालय में बने ट्रेजरी के स्ट्रांग रूम में रखने के निर्देश दिए गए हैं।

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता डॉ संदीप सबलोक ने प्रशासन की इस गंभीर चूक पर सवाल उठाते हुए कहा है कि यह लापरवाही नहीं बल्कि की सोची समझी साजिश का परिणाम है और निर्वाचन की पारदर्शिता और निष्पक्षता पर बड़ा प्रश्नचिन्ह है। उन्होंने मांग की है कि निर्वाचन कार्य में इस धांधली के जिम्मेदार अधिकारी एवं कर्मचारियों

 


Tags:

बिना-नंबर-की-गाड़ी-में-सागर-पहुंची-ईवीएम-मशीन

इस खबर को शेयर करें


Comments