Breaking News

जैसीनगर गैंगरेप का मुख्य आरोपी 4 दिन बाद भी फरार, पोस्टर में पुलिस ने दिया गलत नंबर

प्रदेश लार्इव            May 09, 2022


मल्हार मीडिया ब्यूरो।

मध्यप्रदेश के सागर जिले जैसीनगर में तीन दिन पहले हुए गैंगरेप का मुख्य आरोपी चैन सिंह अभी—भी फरार है। पुलिस ने इस पर 20 हजार का इनाम भी रखा है।

लेकिन आरोपी के गुमनामी वाले पोस्टर में पुलिस ने जल्दबाजी में मोबाइल नंबर ही 9 अंकों का दिया है। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति को पुलिस को सूचना देना भी चाहे तो नहीं दे पाएगा।

प्राप्त जानकारी के अनुसासर जैसीनगर गैंगरेप का मुख्य आरोपी चैन सिंह 4 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है,पुलिस की 10 टीमें सागर-रायसेन के जंगलो में सर्चिंग कर रही है और 40 किलोमीटर के जंगल में सर्चिंग की जा चुकी है लेकिन चैन सिंह का कहीं भी अता-पता नहीं चल पाया है।

इसका कारण यह भी है कि आरोपी जंगल के चप्पे-चप्पे से वाकिफ है,इसलिए वह फरार होने में सफल हैं,साथ ही पुलिस चैन सिंह के परिचित,रिश्तेदारों के घरों पर भी दबिश दे रही है स्थानीय मुखबिर तंत्र को भी सक्रिय किया है ताकि लोकेशन मिलते ही आरोपी को गिरफ्तार किया जा सके।

 

सागर एसपी तरुण नायक ने आरोपी चैन सिंह पर ₹20000 का इनाम भी घोषित कर दिया है और आरोपी चैन सिंह के पोस्टर गांव-गांव में चस्पा कर दिए गए हैं,वही वारदात में शामिल तीसरे नाबालिग आरोपी को पुलिस ने गौरझामर से गिरफ्तार कर लिया है।

कल सरकार की तरफ से राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने की गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मुलाक़ात, हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया और कहा कि आरोपी आकाश—पाताल जहां भी होगा उसे खोजकर लाएंगे।

डिया से बात करते हुए मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने बताया जैसीनगर थाना क्षेत्र में हुई बलात्कार की घटना शर्मसार करने वाली है।

जिसके तीन आरोपी पकड़े जा चुके हैं एक आरोपी फरार हैं जिसे आकाश पाताल से भी खोजकर सख्त से सख्त सजा दी जाएगी। एसपी सहित पुलिस आरोपी की खोज में लगे हुए हैं।

मंत्री गोविन्द सिंह ने आगे कहा पीड़िता के परिजनों को शासन की तरफ से 2 लाख, एवं स्वयं की तरफ से पच्चीस हजार की सहायता राशि दी हैं। पीड़िता का समुचित इलाज भी करवाया जाएगा एवं शासन की तरफ से हरसंभव मदद भी की जाएगी।

कांग्रेस के प्रदेश मीडिया उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने वीडियो जारी कर पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं साथ ही इस घटना की निंदा की है।

उन्होंने कहा कि चैन सिंह ने पहले भी एक नाबालिक 7 वर्षीय बच्ची को गांव से अगवा कर ले गया था।

जेल से बाहर आने के बाद भी उसे थाना हाजिर नहीं किया गया और उसने गैंगरेप कर मानवता को शर्मसार कर दिया।

वहीं पुलिस प्रशासन ने अपनी लापरवाही को ढकने के लिए आरोपियों की टपरिया तोड़कर औपचारिकता पूरी कर ली।

जबकि मुख्य अपराधी चैन सिंह अब तक फरार है उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगातार अनुसूचित जाति जनजाति के ऊपर उत्पीड़न की घटनाएं हो रही है कांग्रेस पार्टी इस अन्याय के खिलाफ संघर्ष कर रही है।

गौरतलब है कि गुरुवार की दोपहर 20 वर्षीय युवती अपने जीजा के साथ मोटरसाइकिल पर अपनी बड़ी बहन के यहां जा रही थी तभी रमपुरा के जंगल के पास चैन सिंह अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिला, उन्होंने मोटरसाइकिल रोककर युवती के जीजा के साथ मारपीट की और युवती को जंगल में ले जाकर गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया

 



इस खबर को शेयर करें


Comments