Breaking News

मध्यप्रदेश में तीसरे चरण के चुनाव में 65 फीसदी हुआ मतदान

प्रदेश लार्इव            May 12, 2019


मल्हार मीडिया भोपाल।
मध्य प्रदेश में तीसरे चरण के लोकसभा चुनाव में आठ सीटों पर छिटपुट हिंसक घटनाओं के बीच रविवार को 65 फीसदी मतदान हुआ। भिंड में कानून-व्यवस्था के मद्देनजर कांग्रेस, भाजपा और बसपा प्रत्याशियों को रेस्ट हाउस में बैठाकर रखा गया। भिंड, मुरैना और सागर में कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच आपसी विवाद की घटनाएं सामने आईं। इसमें कुछ लोग भी घायल हुए। मतदान के आंकड़ों में देर रात तक बदलाव की संभावना है।

पिछले दो लोकसभा चुनाव (2009 में 46.29 और 2014 में 56.81 प्रतिशत) की तुलना में तीसरे दौर की आठ लोकसभा सीटों में मतदान का प्रतिशत बढ़ा है। मॉकपोल और मतदान के दौरान 732 ईवीएम और वीवीपैट खराब होने के कारण उन्हें बदला गया। कई मतदान केंद्रों में धीमी गति से मतदान कराने, भीड़ के एकत्र होने और ईवीएम बदलने में समय लगाए जाने की शिकायतें मिलीं।

तीसरे चरण के चुनाव में भोपाल, भिंड, मुरैना, ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा और राजगढ़ संसदीय क्षेत्र के लिए मतदान हुआ। 18 हजार 141 मतदान केंद्रों में मॉकपोल के बाद सुबह सात बजे से मतदान शुरू कराया गया। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने बताया कि मुरैना के अजीतपुरा, भिंड के सूरजपूर, नदोरा और राजगढ़ में सेंदलीकाकर में कुछ मतदान केंद्रों पर मतदान से बहिष्कार की सूचनाएं मिली थीं।

प्रशासन की समझाइश के बाद यहां मतदान शुरू हुआ। भिंड के गोरमी में अकलौनी गांव में ईवीएम में फेवीक्विक डालकर मशीन खराब करने की बात सामने आई। यहां मशीन बदलकर सुबह साढ़े नौ बजे मतदान कराया गया। मतदान शांतिपूर्ण रहा। भोपाल, भिंड, मुरैना से धीमे मतदान, भीड़ एकत्र होने और ईवीएम बदलने में समय लगने को लेकर शिकायतें मिलीं। कुछ मतदान केंद्रों में मशीनों को बदलने की प्रक्रिया में आधा से पौन घंटे तक मतदान बाधित रहा।

इसको लेकर मतदान के लिए अतिरिक्त समय देने की मांग भी उठी पर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि शाम छह बजे तक जितने मतदाता मतदान केंद्र के भीतर होंगे, उनसे समय कितना ही लग जाए, मतदान कराया जाएगा। उधर, सागर के नरयावली नाका वार्ड में भाजपा पार्षद सोमेश्ा जड़िया पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया, जिसमें वे घायल हो गए। भिंड के जैतपुरा में मतदान केंद्र पर सिपाही लोकेश कुमार और होमगार्ड सैनिक मेघसिंह की पिटाई कर दी।

भिंड के आलमपुरा के मतदान केंद्र में भी हिंसक झड़प हुई। भिंड में स्थानीय प्रशासन ने एहतियातन अटेर से भाजपा विधायक अरविंद सिंह भदौरिया और कांग्रेस नेता पूर्व विधायक हेमंत कटारे को घर से बाहर नहीं निकलने दिया। भिंड से कांग्रेस, भाजपा और बसपा प्रत्याशियों को रेस्ट हाउस में रखा गया। चर्चा यह थी कि इन्हें नजरबंद कर लिया गया है। हालांकि, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने किसी को भी नजरबंद किए जाने से इनकार किया।

414 केंद्रों में बदली ईवीएम और वीवीपैट

तीसरे चरण में कुल 414 मतदान केंद्रों में मॉकपोल और मतदान के दौरान ईवीएम व वीवीपैट को बदला गया। मॉकपोल के दौरान 312 मतदान केंद्रों में 147 बैलेट यूनिट, 105 कंट्रोल यूनिट और 295 वीवीपैट को खराबी की वजह से बदला गया। इसी तरह मतदान के दौरान 102 केंद्रों में ईवीएम और वीवीपैट खराब होने पर बदली गईं। इसमें 49 बैलेट यूनिट, 34 कंट्रोल यूनिट और 102 वीवीपैट थीं

 

रात 10 बजे तक के आंकड़े

 



इस खबर को शेयर करें


Comments