Breaking News

आगे-आगे चिदंबरम, पीछे-पीछे सीबीआई, हाई प्रोफाईल ड्रामे के बाद हुई गिरफ्तारी

राजनीति            Aug 21, 2019


मल्हार मीडिया ब्यूरो।
INX केस में आरोपी पूर्व केंद्रीय मंंत्री चिदंबरम आखिर को 24 घंटे के हाई प्रोफाईल ड्रामे के बाद सामने आए और सीधे कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे और अपनी बेगुनाही की बात कही।

इसके बाद आगे-आगे चिदंबरम और पीछे-पीछे सीबीआई-ईडी की टीमें वाला दौर चला।

8.00 बजे: नई दिल्ली के 24, अकबर रोड़ स्थित कांग्रेस मुख्यालय पर अचानक हलचल बढ़ी।
8.07 बजे: कपिल सिब्बल, अभिषेक मनु सिंघवी, सलमान खुर्शीद समेत अन्य बडे़ नेता बारी-बारी से कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे।

कांग्रेस नेताओं के बीच बैठकर चिदंबरम ने मीडिया को संबोधित करना शुरू किया।

8.19 बजे: चिदंबरम ने खुद को और अपने बेटे समेत परिवार के सभी सदस्यों को निर्दोष बताया।
8.20 बजे: सीबीआई और ईडी की टीमें कांग्रेस मुख्यालय के लिए रवाना।
8.24 बजे: चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस खत्म। साथी कांग्रेस नेताओं के साथ मुख्यालय से बाहर निकले।
8.26 बजे: कांग्रेस मुख्यालय में मौजूद अन्य नेताओं ने बयान देने शुरू किए। केंद्र सरकार पर एजेंसियों के दुरुपयोग के आरोप लगाए।
8.28 बजे: साफ हो गया कि अब चिदंबरम कांग्रेस मुख्यालय में नहीं हैं और वे जोरबाग स्थित अपने घर के लिए रवाना हो चुके हैं।
8.37 बजे: कांग्रेस मुख्यालय के बाहर भारी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता जमा हुए और अपने नेताओं के समर्थन में नारे बाजी शुरू की। भारी हंगामा।
8.40 बजे: चिदबंरम जोरबाग स्थित अपने घर पहुंचे। सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी भी उनके साथ।

9.03 बजे: सीबीआई के लोग अंदर पहुंचे। किसी भी वक्त हो सकती है गिरफ्तारी। ईडी की टीम भी पहुंची। सीबीआई ने दिल्ली पुलिस से मदद मांगी।
9.11 बजे: ईडी की टीम चिदंबरम के निवास से रवाना हुई। खबर है कि सीबीआई की एक और टीम मौके के लिए रवाना।
9.15 बजे: भारी धक्का-मुक्की के बीच एक कार अंदर भेजी गई। माना गया कि इसी काम में चिदंबरम को गिरफ्तार कर लाया गया।
9.16 बजे: भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी मौके पर पहुंचे। सीबीआई की टीम के साथ मारपीट। खबर है कि अंदर चिदंबरम से पूछताछ की जा रही है।

9.20 बजे: चिदंबरम अपने घर की पहली मंजिल पर बैठे हैं। उनके साथ सिब्बल और अन्य नेता मौजूद हैं। वे चाहते हैं कि चिदंबरम को हिरासत में ले जाने की कागजी कार्रवाई पूरी की जाए।
9.32 बजे: सीबीआई के डायरेक्टर आरके शुक्ला सीबीआई के दफ्तर पहुंचे। माना जा रहा है कि चिदंबरम को जल्द हिरासत में लेकर सीबीआई मुख्यालय लाया जाएगा।

9.44 बजे: पहली मंजिल पर कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी नजर आए। सीबीआई ने चिदंबरम को हिरासत में लिया। सफेद गाड़ी में सीबीआई के अधिकारी चिदंबरम को लेकर बाहर आए।


इससे पहले चिदंबरम ने कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। जब चिदंबरम मीडिया से बात कर रहे थे तभी सीबीआई और ईडी की टीम कांग्रेस मुख्यालय के लिए रवाना हो गए।

इसके बाद खबर आई कि चिदंबरम अपने साथी कांग्रेस नेताओं और वकीलों के साथ कांग्रेस मुख्यालय स्थित एक कमरे में बैठ गए। नेताओं ने यह संदेश देने की कोशिश की है कि पूरी कांग्रेस चिदंबरम के साथ खड़ी है और पूर्व मंत्री कहीं भागे नहीं है। हालांकि जल्द ही पता चला कि चिदंबरम कांग्रेस दफ्तर से निकल गए और जोरबाग स्थित अपने घर पहुंच गए। माना जा रहा है कि जल्द ही सीबीआई यहां पहुंचेगी।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान चिदंबरम ने कहा कि INX Media Case में वे या उनके परिवार के किसी सदस्य को आरोपी नहीं बनाया गया है। उन्हें और उनके बेटे को फंसाया गया है। इस केस की चार्जशीट (एफआईआर) में उनका नाम नहीं है। पिछले करीब 24 घंटे से वे कानून से भाग नहीं रहे थे। वे अपने वकीलों के साथ थे और कानूनी मदद पर मंथन कर रहे थे।

बकौल चिदंबरम, पिछले 24 घंटों में मुझे लेकर बहुत भ्रम फैलाया गया। रातभर से मैं अपने वकीलों के साथ काम कर रहा था। मुझे पर भागने का आरोप लगाया, जबकि मैं न्याय हासिल करने की कोशिश कर रहा था। मैं सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सम्मान करता हूं। जिंदगी और आजादी में से मैं आजादी चुनना पसंद करूंगा। मैं कानून से संरक्षण मांग रहा हूं।

दिल्ली हाई कोर्ट से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद से ही पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम गायब थे। इससे पहले चिंदबरम की याचिका में खामियां मिलने के बाद जस्टिस रमन्ना ने मामले में सवाल किए लेकिन कोई भी राहत नहीं दी। अब शुक्रवार को कांग्रेस नेता के वकील एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे।

चिदंबरम की तरफ से राहत के लिए जो याचिका लगाई गई थी उसमें कुछ खामियां मिली हैं और सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री इसे कोर्ट के सामने मेंशन करने के लिए क्लियर नहीं कर पा रही है।

चिदंबरम की तरफ से कपिल सिब्बल इस मामले में राहत की याचिका लेकर सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठतम जज के पास पहुंचे थे लेकिन उन्होंने इस मामले में कोई भी आदेश देने से इनकार कर दिया और मामले को चीफ जस्टिस के पास भेज दिया।

कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम जज रमन्ना के सामने याचिका लगाते हुए अपील की कि उन्हें हाईकोर्ट से वक्त नहीं दिया गया ऐसे में उन्हें थोड़ी मोहलत दी जाए लेकिन जस्टिस रमन्ना ने कोई भी आदेश देने से इनकार कर दिया। सिब्बल अपील करते रहे कि इस मामले में फिलहाल गिरफ्तारी पर ही रोक लगा दी जाए लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।

 


Tags:

आगे-आगे-चिदंबरम पीछे-पीछे-सीबीआई

इस खबर को शेयर करें


Comments