Breaking News

कलेक्टर को 8 माह बाद आई पत्रकारों की याद

मीडिया            May 10, 2022


नरसिंहपुर से समीर खान
मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले के कलेक्टर श्री रोहित सिंह जी को आखिरकार जिले के पत्रकारों की याद आ ही गई।

वह भी ऐसे मौके पर आई है जब पत्रकार चाहकर भी वार्ता का विरोध या बहिष्कार दर्ज नहीं करा सकते, क्योंकि विषय नगर के गौरव दिवस से जुड़ा है।

जिले के पत्रकार पहले से ही सकारात्मक हैं और जिले की बेहतरी के लिए अपनी खबरों के माध्यम से शासन-प्रशासन को अवगत कराते रहते हैं।

 

कलेक्टर बुलाएं या न बुलाएं पत्रकार अपना काम बखूबी करते चले आ रहे हैं

 

उम्मीद तो यह थी कि नगरीय निकाय चुनावों में जब प्रशासन को पत्रकारों की जरूरत आन पड़ेगी तब कलेक्टर खुद पत्रकारों से संवाद करेंगे पर चुनाव टलते गए और इसके साथ ही कलेक्टर से पत्रकारों की बातचीत भी टल गई।

इस बीच दो मौके ऐसे आये जब जिले के पत्रकार लामबंद होकर कलेक्टर को अपनी बात सुनाने नरसिंह भवन की चौखट पर खड़े रहे, पर साहब ने पत्रकारों से मिलना उचित नहीं समझा लिहाजा पत्रकार अन्य अधिकारी से अपनी बात कहकर वापस आ गए।

वैसे तो जब कोई पत्रकारिता में आता है तो अपना मान सम्मान खूंटी पर टांगकर आता है, लेकिन पत्रकार की इज्जत इतनी भी बेइज्जत नहीं है कि वह बेइज्जत होने के बाद भी अपनी इज्जत को दरकिनार कर आपका आमंत्रण सिर माथे पर लगाकर जी हुजूर कहता फिरे।

बात जिले के गौरव दिवस की है तो जिले का प्रत्येक पत्रकार, नरसिंह भगवान और इस भूमि के लिए अपने माध्यम से सहयोग और सुझाव देता आ रहा है और आगे भी देता रहेगा लेकिन आपकी जरूरत के मुताबिक यहाँ का पत्रकार नहीं चलेगा।

निःसन्देह जिला प्रशासन व सभी राजनैतिक दल, संगठन जिले के विकास के लिए दिल खोलकर कार्य कर रहे हैं, पर आपका रवैया पत्रकारों के साथ सन्तोषजनक नहीं है।

पूर्व की तरह आपकी सरकारी विज्ञप्तियों का प्रकाशन प्रसारण होता रहेगा जैसा होता आ रहा है हम सभी अपना काम करते रहेंगे।

हमारे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के अनेकों साथियों की शिकायत है कि जनहित से जुड़े समाचारों और मुद्दों पर जब वह कोई खबर बनाते हैं तो उसमें कलेक्टर का पक्ष रखा जाना भी जरूरी होता है।

लेकिन हमारे साथी घण्टों एक बाइट के लिए इंतजार करते हैं और साहब यह कहकर निकल जाते हैं कि हर बात के लिए मैं थोड़ी न बाइट दूंगा।

जब जिला कलेक्टर खुद ही हर बात के लिए जबावदेह नहीं हैं तो साहब आपकी आवश्यकता अनुसार पत्रकार भी आपकी बात जनता तक पहुंचाने के लिए जिम्मेदार नहीं हैं।

एक पत्रकार होने के नाते जिला कलेक्टर द्वारा अपने पत्रकार साथियों के साथ होने वाले इस गैर जिम्मेदार रवैये का हम पुरजोर विरोध करते हैं, और यह भी अवगत कराना चाहते हैं कि पत्रकारों के प्रति आपका यही भाव रहा तो आने वाले समय में प्रशासनिक समाचारों का भी हम साथी पूर्णतः बहिष्कार करेंगे।


Tags:

कलेक्टर-को-8-माह-बाद-आई-पत्रकारों-की-याद

इस खबर को शेयर करें


Comments